लोकप्रिय पोस्ट

सोमवार, 20 जुलाई 2020

 यद् पुल्लिंग सर्वनाम शब्दस्य रुपाणि
एक वचन      द्वि वचन      बहु वचन      विभक्ति
एषः              एतौ            एते              प्रथमा
एतम्             एतौ           एतान्            द्वितीया
एतेन             एताभ्याम्     एतैः             तृतीया
एतस्मै           एताभ्याम्     एतेभ्यः         चतुर्थी
एतस्मात्        एताभ्याम्      एतेभ्यः        पंचमी
एतस्य            एतयोः         एतेषाम्       षष्ठी
एतस्मिन्          एतयोः        एतेषु           सप्तमी

शुक्रवार, 10 जुलाई 2020

एकेनापि सुपुत्रेण सिंही स्वपीति निर्भयम्।
सहैव दशभिः पुत्रेण भारं वहति गर्दभिः।।
अर्थात् -शेरनी एक पुत्र के होने पर भी निर्भय होकर नींद लेती है लेकिन दश पुत्रों के साथ होने पर भी गधी को भार वहन करना पड़ता है। 

गुरुवार, 9 जुलाई 2020

रोगार्तो मुच्यते रोगात्, बथ्दो मुच्येत् बन्धनात्।
भयान्मुच्यते भीतस्तु मुच्येतापन्न आपदः ।।
अर्थात् रोगी रोगों से मुक्त होवें, बन्दी बन्धनों से, भयार्ती भय से मुक्त होवें, संकटों से घिरा हुआ संकटों से छुटकारा पावें। 

सोमवार, 6 जुलाई 2020

सरल संस्कृत सुभाषित -

सरल संस्कृत सुभाषित -अपूर्व कोsपि कोषोsयम् विद्यते तव भारती। 

                                    व्ययतो वृध्दिमायाति क्षयमायाति संचयात् ।।
हिन्दी अनुवाद -हे माँ सरस्वती आपका खजाना बड़ा ही अनोखा है व्यय करने से तो इसमें वृध्दि होती है और संचय करने से इसमें क्षय होता है। 

गुरुवार, 2 जुलाई 2020

Class vi to x संस्कृत व्याकरण
अध्याय 1 "वर्णमाला और उच्चारण स्थान "
अ आ इ ई उ ऊ ऋ ए ऐ ओ औ अं अः ।
क ख ग घ ङ-कण्ठ्य वर्ण
च छ ज झ ञ-तालव्य वर्ण
ट ठ ड ढ ण-मूर्धन्य वर्ण
त थ द ध न-दन्त्य वर्ण
प फ ब भ म-ओष्ठ्य वर्ण
य व र ल     -अन्तः स्थ व्यंजन 
श ष स ह    -ऊष्म व्यंजन
क्ष त्र ज्ञ       -संयुक्त व्यंजन
स्वर तीन प्रकार के होते हैं
1-ह्रस्व स्वर -अ इ उ ऋ
2-दीर्च स्वर - आ ई ऊ ऋ
3-मिश्रित स्वर - ए ऐ ओ औ

 यद् पुल्लिंग सर्वनाम शब्दस्य रुपाणि एक वचन      द्वि वचन      बहु वचन      विभक्ति एषः              एतौ            एते              प्रथ...